Best Jija sali shayari

आज मैंने फिर तुमको याद किया,
प्यार के रिश्ते से आजाद किया।

aaj maine phir tumako yaad kiya,
pyaar ke rishte se aajaad kiya.

तुम्हें देखने को दिल तरसता है,
पर हमने अपने को तुम पर बर्बाद किया।

tumhen dekhane ko dil tarasata hai,
par hamane apane ko tum par barbaad kiya.

तुम्हें पाने को दिल तड़पता है,
खुदा जाने यह कैसा रिश्ता है।

tumhen paane ko dil tadapata hai,
khuda jaane yah kaisa rishta hai.

दिल की बात लिखा हूं पत्र में पढ़ के दुःख मत करना,
मुझे तुमसे ही मोहब्बत है तुम किसी से प्यार मत करना।

dil kee baat mein likha hoon patr mein padha ke duhkh mat karo,
mujhe tumase hee mohabbat hai tum kisee se pyaar mat karo.

मेरे दिल से दिल्लगी ना कर दिल धड़क गया तो क्या होगा,
हल्का सा बीच में पर्दा है यह सरक गया तो क्या होगा।

पहले जितनी लाजबाव थी मैं,
हसीनों में सनम बेहिसाब थी मैं।
लोग क्या कहते हैं उसे न सुनो,
सुन्दरता का कभी जबाव थी मैं।

घर से निकलना मुश्किल हो गया है मेरा,
लोग चिढ़ाते हैं नाम ले ले के तेरा।
मैं तो हूँ तेरी छोटी साली,
मुझे प्यार न करेगा तो क्या विगड़ेगा तेरा।

खत पाकर दिल को सकून हुआ,
तुम्हारी नजरों में मैं हसीन हुआ।
ये खत लिखा था मैंने बीबी को,
जबाव देना था तुम्हारी दीदी को।

तुम्हारी दीदी को हमने दूर किया है,
तुम्हें प्यार करने पर मजबूर किया है।
तुमसे मिलने पर दिल धड़कता है,
दिल में प्यार का शोला भड़कता है।

बिना देखे तुम्हें रहा नहीं जाएगा,
ये ददे गम अब सहा नहीं जाएगा।
तुम जब आओगे ही नहीं जीजा जी,
तो दर्द किसी से कहा नहीं जायेगा।

जीजा साली के इश्क की यहीं है दास्तान,
ससुराल में होती है इसकी पहचान।

आपके ऊपर मेरी मोहब्बत का है असर,
जिन्दगी आपके बिना करते हैं हम बसर।
आ जाओ वांहों में और मिटा डालो कसर,
ऐसा जीजा होता है प्यार का भी असर।

ऐ जीजा, इलाज तेरे इस दर्द का,
मेरे तो क्या, पास किसी के नहीं।
यूँ तो समाया है नस-नस में,
दवा इसकी उस खुदा के पास भी नहीं।।

Post a Comment

0 Comments