हमें तो लूटा था हुस्न वालों ने | romantic shayari for gf

हमें तो लूटा था हुस्न वालों ने, मोहब्बत कहाँ कर पायी,
हमें तो लूट लिया बेबफा ने, जो जिन्दगी ना मिल पायी।

hamen to loota tha husn vaalon ne mohabbat kahan kar payi,
hamen to loot liya bebapha ne, jo jindagi na mil payi.

आँख खुली थी बेठी, आंसू निकल पड़े थे,
जब तुम मेरे सामने आयी थी तब तक अर्मा बिखर चुके थे।

aankh khulee thee baithee, aansoo nikal pade the,
jab tum mere saamane aayee thee tab tak arma bikhar chuke the.

सितारों से पूछो इन आंखों से पूछो,
तुम्हारे रहे हैं, जहां भी रहे है।

sitaaron se poochho in aankhon se poochho,
tumhare rahe hain, jahaan bhee rahe hain.

दुनियाँ से क्या खुदा से भी घबरा के कह दिया,
वो मेहरवां नहीं तो कोई मेहरवां नहीं।

duniyaan se kya khuda se bhee ghabara ke kah diya,
vo meharavaan nahin to koee meharavaan nahin.

गलतफहमी न हो जाए किसी को मेरी जानिब से,
खुदा के वास्ते दीवाना कहदो, एक बार अपना।

galatphahami na ho jaye kisi ko meree jaanib se,
khuda ke vaaste deevaana kahado, ek baar apana.

तेरे इश्क की इन्तहा चाहता हूँ,
मेरी सादगी देख, क्या चाहता हूँ।

tere ishk kee intaha chaahata hoon,
meree saadagee dekh,  chaahata hoon.

बोसा. जो तलब मैंने किया, हंसके वो बोले,
यह हुस्न की दौलत है, लुटाई नहीं जाती।

bosa. jo talab mainne kiya, hansake vo bole,
yah husn kee daulat hai, lutaee nahin jaatee.

मेहरवां होके बुलालो मुझे चाहे जिस वक्त,
मैं गया वक्त नहीं हूँ कि फिर आ भी न सकू।

meharavaan hoke bulalo mujhe chaahe jis vakt,
main gaya vakt nahin hoon ki phir aa bhee na sakoo.

कोई हद ही नहीं शायद मुहब्बत के फंसाने की,
सुनाता जा रहा है जिसको जितना याद होता है।

koee had hee nahin shaayad muhabbat ke phansaane kee,
sunaata ja raha hai jisako jitana yaad hota hai.

जिन जिन को था ये इश्क का आजार मर गये,
अक्सर हमारे साथ के बीमार मर गये।

jin jin ko tha ye ishk ka aajaar mar gaya,
aksar hamaare saath ke beemaar mar gae.

Post a Comment

0 Comments