मुझको ना मालूम था, कि मोहब्बत तुमसे हो जायेगी | romantic shayari

मुझको ना मालूम था, कि मोहब्बत तुमसे हो जायेगी,
जब मैंने तुमसे मोहब्बत की, कहूँगा तो तुम मुझसे दूर ना हो जाओगी।

mujhko na malum tha ki mohbbat tumse ho jayegi,
jab meine tumse mohbbat ki kahunga to tum mujhse dur na ho jaogi.

खूबसूरत हो तुम, जी फूल खिलते हैं,
एक हम ही हैं, जो तुम पर मरते हैं।

khubsurat ho tum ji fool khilate hain,
ek hum hi hain jo tum par marte hain.

हम तो करते हैं प्यार, हम से दिल ना लगाना,
हम तो एक परदेशी हैं, हमारे दामन में फूल ना बरसाना।

ham to karte hain pyar ham se dil na lagana,
hum to ek pardeshi hain, hamare daaman mein fool na barsana.

आँखों में हैं आँसू, उन्हें पोंछते तो रहेंगे,
जब तक हम परदेश में हैं, तब तक तुम्हें याद करते रहेंगे।

जब तक रहेंगे आसमां पै सितारे, हम तुझे याद करते तो रहेंगे,
हम जहाँ भी हैं परदेश में, वहाँ तुम्हें प्यार करते तो रहेंगे।

खुदा ने तुमको इतना खूबसूरत बनाया है, कि चाँद लगती हो,
प्यार हम तुम्हें करते हैं, कि हजारों में एक लगती हो।

आँखों में शराफत, चाल में शराब का नशा लगता है,
हम तो ठहरे परदेशी हमसे तुम्हारा क्या रिश्ता लगता है।

तुमने मुझको हंसना सिखाया रोने को कहोगे रो लेंगे,
आंसू हमारे गम न करो वो बहते हैं तो बहने दो।

चिरागे मोहब्बत जलाकर बुझाया,
मुझे प्यार में हँसते हँसते रुलाया।

सौ साल पहले हमें तुमसे प्यार था,
आज भी है और कल भी रहेगा।

दिल में बजी प्यार की शहनाईयां,
आ गए तो मिट गयी तनहाइयां।

हम तो चलते हैं तेरे इशारों पर,
भला हमको है अपनी खबर कहाँ।

मैंने ढूढ़ ली अपन मंजिल,
तेरी जुल्फों की ठण्डी छाहों में।

आपकी नज़रों ने समझा प्यार के काबिल मुझे,
दिल की ऐ धड़कन ठहर जा मिल गई मंजिल मुझे।

देख के तेरे गाल गुलाबी भंवरा भी धोका खाए,
तेरे तीर का मारा मुख से पानी भी मांग न पाए।

हुस्न वाले तेरा जबाव नहीं,
कोई तुमसा नहीं हजारों में।

Post a Comment

0 Comments