true love shayari

मुहब्बत का तुमसे असर क्या कहूं,
नजर मिल गयी दिल धड़कने लगा।

muhabbat ka tumase asar kya kahoon,
najar mil gayi dil dhadakane laga.

किसी ने मोल न पूछा दिल शिकस्ता का,
कोई खरीद के टूटा प्याला क्या करता।

kisi ne mol na poochha dil shikasta ka,
koi khareed ke toota pyaala kya karata.

जो कहोगे तुम कहेंगे हम भी हाँ यूँ ही सही,
आपकी गर यूँ ख़ुशी है मेहरबा यूँ ही सही।

jo kahoge tum kahenge ham bhee haan yoon hee sahee,
aapaki gar yoon khushee hai meharaba yoon hee sahee.

मैंने माना कि  मुझे उनसे मुहब्बत न रही,
हम नशी फिर भी मुलाकात से जी डरता है।

mainne maana ki mujhe unase muhabbat na rahi,
ham nashee phir bhee mulakat se jee darata hai.

होगी मेहरबानी हमें दिल में बसालें,
शिकवे गिले छोड़के सीने से लगा लें।

hogi meharbani hamen dil mein basaalen,
shikave gile chhodake seene se laga liya.

बन ठन के आज निकली है वो घर से देखिये,
उड़ती है कैसे आँचल उनके सर से देखिये।

ban than ke aaj nikalee hai vo ghar se dekhiye,
udati hai kaise aanchal unake sar se dekhiye.

जवानी में या खुदा उसे नादानी क्यों दे दी,
ऐसी बेबकूफ लड़की को जवानी क्यों दे दी।

javani mein ya khuda use nadani kyon de dee,
aisi bebkoof ladaki ko javani kyon de dee.

आज क्या हुआ है मुझको लगता नहीं है दिल,
जबसे नजर मिली है संभलता नहीं है दिल।

aaj kya hua hai mujhako lagata nahin hai dil,
jabase najar mili hai sambhalata nahin hai dil.

ईमान भरे दिल को बेईमान कर दिया,
जालिम की अदा ने परेशांन कर दिया।

imaan bhare dil ko beimaan kar diya,
jaalim ki adaa ne pareshan kar diya.

Post a Comment

0 Comments