love shayari

इक छोटा सा दिल है और लाखों है हमराज,
किसको चाहू किसको पूजू किसको दूं आवाज।

ik chhota sa dil hai aur laakhon hai hamaraaj,
kisko chahu kisko pooju kisko doon aavaaj.

मोहब्बत मिलती है नसीब वालों को, हमको कहाँ मिलेगी,
हमको तो मिलती हैं जुदाईयाँ, जिन्दगी कहाँ मिलेगी।

mohabbat milate hai nase vaalon ko, hamako kahaan milegi,
hamako to milati hain judaeeyaan, jindagee kahaan milegi.

कुछ ऐसे ही दिन थे वो जब हम मिले थे,
चमन में नहीं फूल दिल में खिले थे।

kuchh aise hee din the jab ham mile the,
chaman mein nahin phool dil mein khile the.

हे ऊपर वाले तूने क्या चीज बनाई है, लड़की को जब हम पीछे पड़ते हैं,
लडकियाँ नफरत करती हैं, फिर भी हम उनसे मोहब्बत करते है।

he upar vale tune kya cheej banayi hai, ladaki ko jab ham pichhe padate hain,
ladkiyan napharat karati hain, phir bhee ham unase mohabbat karate hain.


रूप की रानी भरी जवानी मुखड़ा चाँद सलोना,
फैशन पर लेसन बनवालो कभी लगे न रोना।

roop kee rani bhari javaani mukhada chaand salona,
phaishan par lesan banvaalo kabhi lage na rona.

कुछ दिन नीबूं फिर अनार फिर कुछ दिनों बाद हिनोना,
गर्म जलेबी बसी हो गयी क्या जादू क्या टोना।

kuchh din neeboon phir anaar phir kuchh din baad hinona,
garm jalebee basee ho gayee kya jaadoo kya tona.

इश्क और हुस्न आशिक के फिल्म खेल होते हैं,
जो बच्चे देखते हैं पढ़ने में ज्यादा फेल होते हैं।

ishk aur husn ashik ke film khel hote hain,
jo bachche dekhate hain padhane mein jyada phel hote hain.

इश्क चलता पैदल हुस्न मोटर कार में,
ये कैसा इन्साफ ईश्वर है तेरे दरबार में।

ishk chalta paidal husn motar car mein,
ye kaisa insaaf eeshvar hai tere darabaar mein.

काम करे वो स्वार्थ का जो नर बेपर नहीं परिंदा है,
जिसकी अमर कहानी जग में मरा नहीं वह जिन्दा है।

kaam kare vo svaarth ka jo nar bepar nahin parinda hai,
jisakee amar kahani jag mein mar nahin vah jinda hai.

प्यार एक अनमोल वस्तु है बिकने वाला मोल नहीं,
दुनियां देखि लम्बी चौड़ी मेरी समझ में गोल नहीं।

pyar ek anmol vastu hai bikane vaala mol nahi,
duniyan dekhi lambee chaudee meri samajh mein gol nahin.

कभी हम बात करते थे फलक के चाँद तारों से,
जमीं पर आ गए गिरते हुए एक बार फिर से।

kabhi ham baat karate the falal ke chaand taaron se,
jameen par aa gaye girate hue ek baar phir se.

अदा से देश लेने दो मुझे तुम माफ़ कर देना,
दुबारा फिर तुम्हे देखा तो गर्दन साफ़ कर देना।

ada se desh lene do mujhe tum maaf kar dena,
dubaara phir tumhe dekha to gardan saaf kar dena.

सुबह देखा था ली, वह नजरें मिला रही थी,
जब मैंने कहा मोहब्बत की, तो वो मेरी हँसी उड़ा रही थी।

रजबी तो कहा है मैंने, मोहब्बत करो मत किसी लड़की से,
जब लड़की तम पर मरे, तो उसे छोड़ो मत आशकी से।


बनाओ लाख कागज का सुमन एक खिल नहीं सकता,
अगर एक बार टूटा दिल दुबारा मिल नहीं सकता।

banao laakh kaagaj ka suman ek khil nahin sakata,
agar ek baar toota dil dubaara mil nahin sakata.

यूं हिजाबाना है सूरत पहली पहली रात हो,
बात हो हंस-हंस पिया से और बगल में हाथ हो।

yoon hijaabaana soorat mein pahali pahali raat ho,
baat ho hans-hans piya se aur bagal mein haath ho.

प्यार से चुम्कार के जब गले मिल जायेंगे,
फूल जो मुरझाये होंगे सब के सब खिल जायेंगे।

pyaar se chumkar ke jab gale mil jaenge,
phool jo murajhaaye honge sab ke sab khil jaayenge.

शीशी भरी शराब की बेकार कर दिया,
मारा तो ऐसा मारा जिगर पार कर दिया।

sheeshee bharee sharaab kee bekaar kar diya,
maara to aisa maara jigar paar kar diya.

प्रीत लगाना प्रीत निभाना ऐसा बेसा खेल नहीं,
दीपक बाती कभी न जलते तेल का जिसमें मेल नहीं।

preet lagaana preet nibhana aisa besa khel nahin,
deepak baatee kabhi na jalate tel ka jisamen mel nahin.

सदा नगीना रहने वाला शोभा करे अंगूठी में,
कुछ कहने वाले गाते हैं प्यार हमारी मुठी में।

sada nageena rahane vaala shobha kare anguthi mein,
kuchh kahane vaale gaate hain pyaar hamaara muthee mein.

बहुत से ऐसे बादल हैं कि जिनमें जल नहीं होता,
नया फैशन है अब अबलाओं के आंचल नहीं होता।

bahut se aise baadal hain ki jinamen jal nahin hota,
naya faishan hai ab abalaon ke aanchal nahin hota.

गरजने वाले बादल हैं कि जिनमें जल नहीं होता,
बहकने वाले मर्दो में अधिकतम बल नहीं होता।

garajane vaale baadal hain ki jinamen jal nahin hota,
bahakane vaale mardo mein adhikatam bal nahin hota.


राहत भी आपसे मिलती है,
चाहत भी आपसे मिलती है।
हम से कभी रूठना नहीं,
क्योंकि मुस्कराहट भी आपसे मिलती है।

rahat bhi aapase milati hai,
chaahat bhi aapase milati hai.
ham se kabhi roothana nahin,
kyonki muskaraahat bhi aapase milati hai.

ये नहीं कि आपकी याद आती नहीं,
कहना सिर्फ इतना है कि हम बताते नहीं।
अनमोल है आपसे दिल का रिश्ता हमारा,
आप जानते हैं इसलिए हम बताते नहीं।

ye nahin ki aapaki yaad nahi aati hai,
kahana sirf itana hai ki ham batate nahi.
anamol hai aapase dil ka rishta hamara,
aap jaanate hain isaliye ham batate nahi.

तू मेरे अन्धेरों को उजाला देदे,
बहके जो मेरे कदम तू सहारा देदे।
हर घड़ी इन्तजार रहता है तेरा,
तू मेरे दिल को सहारा देदे।

ए दोस्त हम तेरी दोस्ती के लिए दुनियां छोड़ देंगे,
तेरी तरफ आए हर तूफां को मोड़ देंगे।
लेकिन तूने जो छोड़ा साथ हमारा,
कसम से तेरी हड्डियां तोड़ देंगे।

सुबह लिखता हूँ शाम लिखता हूँ,
हर रोज लिखता हूँ।
वह कलम भी दिवानी हो गयी,
जिससे तेरा नाम लिखता हूँ।

नजर झुकी तो पैमाने बने,
दिल टूटे तो मयखाने बने।
कुछ तो खास है आपमें जो,
हम आपके दीवाने बने।

देता है ये दर्द बस हम ही को क्या,
समझाओगे दिल की नमी को क्या।
लाखों दीवाने हैं चांद के वो क्या,
महसूस करेगा एक तारे की गमी क्या।

पास आकर वो जो हम से दूर गए,
सारे हसीन ख्वाब चूर हो गए।
हमने तो की थी वफा वे बेवफा,
होकर मसहूर हो गए।


प्यार करती हो हमसे निभाना नहीं आता,
समय देकर समय पर आना नहीं आता।
अगर इसी का नाम प्यार है तो,
ऐसा प्यार हमें नहीं आता।

pyar karti ho hamse nibhana nahi aata,
samay dekar samay par aana nahi aata.
agar isee ka naam pyar hai to,
aisa pyar hamen nahi aata.

आपको हम भूल जायें हम इतने वेबफा नहीं,
आपसे क्या गिला करें कोई गिला नहीं।
शीशा सा दिल को तोड़ना तो आपका खेल हैं,
हम से वो भूल हो गई तुम्हारी कोई खता नहीं।

aapko ham bhool jaye itane vebafa nahi,
aapse kya gila karen koi gila nahi.
sheesha sa dil ko todana to aapaka khel hain,
ham se vo bhool gayi tumhari koi khata nahi.

दिल करता है आग लगा दूँ इस जमाने को,
जिसने दर्द ही दर्द दिए हैं हर दीवाने को।
हर पल जख्म खाया है दिल ने मेरे,
अब क्या बाकी रह गया आजमाने को।

बड़ा अरमां था तेरे संग जीवन बिताने का,
सिकवा है तेरे खामोस रह जाने का।
दिवानगी इससे बड़कर क्या होगी,
आज भी इन्तजार है तेरे आने का।

महफिल नहीं तो नजारे नहीं होते,
चांद के पास सारे सितारे नहीं होते।
हम इसलिए करते हैं आपकी परवाह,
क्योंकि यादों का कोई मोसम नहीं होता।

आकर कई तूफान चलें जाते हैं,
दिल को तड़पाकर अरमान चले जाते हैं।
मुझे बहलाकर यू न चले जाना,
दोस्त ऐसे आए जो मेहमान चले जाते हैं।

दोस्ती नाम है सुख दुख की कहानी का,
दोस्ती राज है सदा मुस्कराने का।
यह पल दो पल की पहचान नहीं,
दोस्ती फर्ज है उम्रभर निभाने का।

राज उलफत को छुपाकर देख लिया,
दिल बहुत कुछ जलाकर देख लिया।
और क्या देखने के लिए वाकी है,
आपसे दिल लगाकरं जो देख लिया।


दिन को आओ तो अच्छा हैं यू रात को आना ठीक नहीं,
अब इतना सताना काफी हैं अब और सताना ठीक नहीं।

din ko aana to achchha hai yoo raat ko aana theek nahin,
ab itana sataana kaaphee hain ab aur sataana theek nahin.

रात के अंधेरे में हमसे दामन बचा के,
ना जा पाओगी हमसे नजरें चुरा के।

raat ke andhere mein hamse daaman bacha ke,
na ja paogee hamase najaren chura ke.

सब कुछ तो लुट चुका है अब और क्या लुटाऊं,
इक चीज बच रही है कैसे तुम्हें बताऊँ।

sab kuchh to lut chuka hai ab aur kya lutaun,
ik cheej bach rahee hai kaise tumhe bataoon.

आजा तू जल्दी आजा आजा मेरी खातिर,
बरना किसी दिन निकलेगा जनाजा तेरी खातिर।

aaja too jaldee aaja aaja meri khaatir,
barana kisee din nikalega janaaja teri khaatir.

ना जीने की तमन्ना है ना मरने की तमन्ना है,
तमन्ना तो बस इतनी कि मिलने की तमन्ना है।

na jeene kee tamanna hai na marane kee tamanna hai,
tamanna to bas itani ki milane ki tamanna hai.

क्या ये ही इस दुनियाँ में उल्फत का दस्तूर है,
मुद्दत के बाद आये तो मांग में सिन्दूर है।

kya ye hee is duniyan mein ulphat ka dastoor hai,
muddondat ke baad aaye to maang mein sindoor hai.

सूरज तो निकलता है मगर रोशनी नहीं,
मुझको तो इस जहां में आता नजर अन्धेरा।

sooraj to nikalata hai magar roshani nahin hai,
mujhako to is jahaan mein aata najar andhera.


मुहब्बत का तुमसे असर क्या कहूं,
नजर मिल गयी दिल धड़कने लगा।

muhabbat ka tumase asar kya kahoon,
najar mil gayi dil dhadakane laga.

किसी ने मोल न पूछा दिल शिकस्ता का,
कोई खरीद के टूटा प्याला क्या करता।

kisi ne mol na poochha dil shikasta ka,
koi khareed ke toota pyaala kya karata.

जो कहोगे तुम कहेंगे हम भी हाँ यूँ ही सही,
आपकी गर यूँ ख़ुशी है मेहरबा यूँ ही सही।

jo kahoge tum kahenge ham bhee haan yoon hee sahee,
aapaki gar yoon khushee hai meharaba yoon hee sahee.

मैंने माना कि  मुझे उनसे मुहब्बत न रही,
हम नशी फिर भी मुलाकात से जी डरता है।

mainne maana ki mujhe unase muhabbat na rahi,
ham nashee phir bhee mulakat se jee darata hai.

होगी मेहरबानी हमें दिल में बसालें,
शिकवे गिले छोड़के सीने से लगा लें।

hogi meharbani hamen dil mein basaalen,
shikave gile chhodake seene se laga liya.

बन ठन के आज निकली है वो घर से देखिये,
उड़ती है कैसे आँचल उनके सर से देखिये।

ban than ke aaj nikalee hai vo ghar se dekhiye,
udati hai kaise aanchal unake sar se dekhiye.

जवानी में या खुदा उसे नादानी क्यों दे दी,
ऐसी बेबकूफ लड़की को जवानी क्यों दे दी।

javani mein ya khuda use nadani kyon de dee,
aisi bebkoof ladaki ko javani kyon de dee.

आज क्या हुआ है मुझको लगता नहीं है दिल,
जबसे नजर मिली है संभलता नहीं है दिल।

aaj kya hua hai mujhako lagata nahin hai dil,
jabase najar mili hai sambhalata nahin hai dil.

ईमान भरे दिल को बेईमान कर दिया,
जालिम की अदा ने परेशांन कर दिया।

imaan bhare dil ko beimaan kar diya,
jaalim ki adaa ne pareshan kar diya.


निगाहें आपकी पहचान है हमारी,
मुस्कुराहट आपकी सान है हमारी।
ध्यान से करना अपनी हिफाजत,
सांसें हैं आपकी जान है हमारी।

nigahen aapki pahchan hai hamari,
muskurahat aapki shan hai hamari.
dhyan se karna apni hifajat,
sanse hain aapki jaan hai hamari

दिल तोड़ना हमारी आदत नहीं,
दिल हम किसी का दुखाते नहीं।
भरोसा करना है हम पर दिल में,
बसा के हम किसी को भुलाते नहीं।

dil todna hamari aadat nahi,
dil ham kisi ka dukhate nahi.
bharosa karna hai ham par dil mein,
basa ke ham kisi ko bhulate nahi.

एक ही दुनियां में रहते हैं,
लेकिन मिल नहीं पाते।
आपसे तो अच्छे आपके ख्वाब हैं,
जो आंख बन्द करके भी चले आते हैं।

जिन्दगी तो अन्जाम हो गयी,
मायूसिया से लेकर हैरान हो गयी।
अचानक देखा हर तरफ खुशी ही खुशी है,
हमारी आपसे जो पहचान हो गयी।

हर जिन्दगी को एक किनारा चाहिए,
हर शक्स को एक सहारा चाहिए।
जिन्दगी कट सके हँसते-हँसते,
इसलिए दोस्त को तुझ-सा एक प्यार चाहिए।

तुम रूठी इस कदर कि मनाया ना गया,
दूर इतनी हो गई कि पास बुलाया ना गया।
दिल तो दिल था समुद्र की लहर नहीं,
लिख दिया जो उस पर तेरा नाम तो फिर मिटाया ना गया।

खफा है हुश्न दिल को बहलाने के लिए,
मुहब्बत करते हैं लोग दिल को बहलाने के लिए।
चाहे पड़े कितने भी गमों का वास्ता,
एक दोस्त रखना गमों को बहलाने के लिए।

दिल की गहराईयाँ होठों तक आ गई,
हम मोहब्बत की कह ना सके, कि वो हमारे करीब आ गई।

dil ki gahraiyan hotho tak aa gayi,
hum mohabbat ki kah na sake ki vo humare kareeb aa gayi.

तुझे देर नहीं तो, दिल में चैन आता नहीं,
दुआ माँग रहा हूँ कब से, मोहब्बत होती नहीं।

tujhe der nahi to dil mein chain aata nahi,
dua mang raha hu kab se mohabbat hoti nahi.

हमें अपनी अदायें ना दिखाओ, हम तो वैसे ही मरते हैं,
हमें और ना तड़पाओ, हम तो तुमसे ही मोहब्बत करते हैं।

hume apani adayen na dikhao, hum to vaise hi marte hain,
hume or na tadpao hum to tumse hi mohabbat karte hain.

मैं तुमसे मोहब्बत करता हूँ, इन्कार ना करना,
मेरे दोस्तों के सामने, मेरा मजाक ना करना।

इस खत को पढ़कर नाराज मत होना,
तुम्हारे दिल में जगह हो तो इस खत का जबाब देना।

तुम मेरे सामने से गुजरती हो, तो दिल में अर्मान आते हैं,
मैं तुमसे कुछ कह नहीं पाता कि मेरे आँखों में आंसू आते हैं।

ओ बेवफा मुझे छोड़ने वाली, जरा मोहब्बत को सोच समझ के छोड़ना,
जिन्दगी में हम जैसों की, खुशी यों ना निचोड़ना।

तुम मोती कितने भी बरसा लो, मैं मोहब्बत नहीं कर पाऊँगा,
पत्थर कितने भी पड़ जायें, मैं तुम्हें याद जरूर करूँगा।

मजाक तो मैं करता हूँ, कह नहीं सकता,
आँसू तो मैं बहाता हूँ, लेकिन उन्हें पौछ नहीं सकता।

अदा है वो तेरी, जो हम फिदा हो बैठे,
वो हमारी ही भूल थी, जो हम तुमसे दिल लगा बैठे।



अगर सब फूल हो अच्छे चमन को नाज होता है।
तेरा मैं नाम लेता क्या तुझे ऐतराज होता है।।

agar sab phool ho achchhe chaman ko naaj hota hai

tera main naam leta hoon kya tujhe aitaraaj hota hai


तुझे तूफान मौजों से टकराना है।
हर गरदिशों में तुझे ना घबराना है।।

tujhe toophaan maujon se takaraana hai

har garadishon mein tujhe na ghabaraana hai


देख लेना आयेगी झकझोरने यादों की शाम।
तेरी धड़कन भी पुकारेगी जुबा पर मेरा नाम।।


dekh lena aayegee jhakajhorane yaadon kee shaam

teree dhadakan bhee pukaaregee juba par mera naam


मुर्दा समझ के डाला है चांद ये कफन ।
देख लेना चांदनी का अन्जाम क्या होगा।।

murda samajh ke daala hai chaand ye kaphan

dekh lena chandani ka anjaam kya hoga


बेवफा से दिल लगाकर बेवफाई खीख ली।
किस तरह मारोगे हमें शमशीर हमने खींच ली।।

bevapha se dil lagaakar bevaphaee kheekh lee

kis tarah maaroge hame shamasheer hamane kheench lee


कोई मुझे आशिक कहे, कोई कहे दीवाना।
कोई कहता लो आ गया मजनू पुराना।।


koi mujhe aashik kahe, koi kahe deevaana

koi kahata lo aa gaya majanoo puraana


क्यों न तुम हंसोगे हंसता है जमाना।
दुनियों को मिल गया है हंसने का बहाना।।

kyon na tum hansoge hansata hai jamaana

duniyon ko mil gaya hai hansane ka bahaana


यूं गौर से ना देखो नजरें घुमा के।
कही मर ना जाये कोई तेरी इस अदा पर।।

yoon gaur se na dekho najaren ghumake

kaahe mar na jaye koi teri is ada par


ना जाने कब निकल जाए ये जान खुदा जाने।
आ जाना मेरी कब्र पर दो आँसू बहाने।।

na jaane kab nikal jaye ye jaan khuda jaane

aa jana meri kabra par do aansoo bahaane


इठला रही हैं आजकल फूलों पे तितलियाँ।
भंवरे भी उन्हें देखकर आहे भरा करते हैं।।


ithala rahee aajakal phool pe titaliyaan

bhanvare bhee unhen dekhakar aahe bhara karate hain


होठो पे तबस्सुम है नजरों में शरारत।
नम्मों में तरन्नुम है अदाओं में कयामत।।

hotho pe tabassum hai najaron mein shararat

nammon mein tarannum hai adaon mein kayamat


अपनी तो जिन्दगी दोजख में ढल गई।
उनके गलाबी गालों की रंगत नहीं गई।।

apani to jindagee do jakh mein dhal gaee

unake gubbee galon kee rangat nahin gaee

वो आये तो इक घड़ी को चैन आ गया।
उनके जाने का गम, पूरा दिल तड़फा गया।।

vo aaye to ik ghadee ko chain aa gaya

unake jaane ka gam, poora dil tadapha gaya


सदियाँ गुजर गई फिजाँ भी बदल गई।
उनके गुलाबी बालों की रंगत नहीं गई।।


sadiyaan gujar gayi fizaan bhee badal gayi

unake gulabi baalon kee rangat nahin gayi


तब आई आह- तेरी जो दिल में अगर।
गर्म आहों से अपना दिल पिघल जाएगा।।

tab aaee aah- teree jo dil mein agar

garm aahon se apana dil pighal jaega



सितम करते हैं वह इतना ना जाने कितने जालिम।
रस्सियाँ जल गई लेकिन बल अब भी कायम है।।

sitam karate hain vah itana na jaane kitane jaalim

rassiyaan jal gaee lekin bal ab bhi kaayam hai


सबकी नजरों में है यहां एक गिरा हुआ इन्सान।
चुपचाप तमाशा देखता में खड़ा नादान।।

sabakee najaron mein yahaan ek gira hua insaan

chupachaap tamaasha dekhata mai khada naadaan


काश जमाने के हम पर सितम भी ना होते।
तो इस जमाने के इस पर सितम भी ना होते।।

kaash jamane ke ham par sitam bhee na hote

to is jamaane ke is par sitam bhee na hote


कुछ तो बताओ तुम सनम क्या है वो मजबूरियाँ।
कितना तड़फायेगी और प्यार की ये दूरियाँ।।


kuchh to batao tum sanam kya hai ki vo majburiyan

kitana tadfayegi aur pyaar kee ye dooriyaan

कुछ नहीं कह सकता तुमसे हाले दिल के रे सनम।
जब तलक न आओगे मार डालेंगे ये गम।।

kuchh nahin kah sakata tumse haale dil ke re sanam

jab talak na jaaoge maar daalenge ye gam

ना यूं भटका ना तड़पाना ना कटा मेरे दिल को।
बतादे में कहाँ जाऊँ छोड़कर तेरी महफिल को।।

na yoon bhatka na tadpana na kata mere dil ko

batade mein kaha jaau chhodkar teri mahfil ko

याद तुम ना करी कोई शिकवा नहीं।
नाम तेरा जुबां पे हम लेते रहे।।

yaad tum na karee koi shikava nahin

naam tera jubaan pe ham lete rahe

तू नहीं है तो पहली बहारें नहीं।
देखकर सूने मंजर हम रोते नहीं।।

tu nahin hai to pahali baharen nahin

dekhkar soone manjar ham rote nahin

तू सदा खुश रहे कोई तुझे गम न हो।
दुआ दिल से तुझे हम ये देते रहे।।

tu sada khush rahe koi tujhe gam na ho

dua dil se tujhe ham ye dete rahe

शमा जलाई प्यार की कोई दुश्मन बुझा गया।
कोई आया मेरा हमराज बन फिर से जला गया।

shama jalaee pyaar kee koi dushman bujha gaya

koi aaya mera hamraaj ban phir se jala gaya

जलाकर खाक कर डाला है मेरा आशियों।
अब कोई मालिक नहीं उजड़े प्यार का।।

jalaakar khaak kar daala hai mera aashiyon

ab koee maalik nahin ujade pyaar ka

मत आया करो मेरी कब्र पर आँसू बहाने।
मर के भी आते हो मुझको सताने।।

mat aaya karo meri kabra par aansoo bahaane

mar ke bhee aate ho mujhko sataane

लगी जो चोट इस दिल को सितम ये सह नहीं सकता।
अगर ठुकरा दिया तुमने जुदा यह रह नहीं सकता।।

lagi jo chot is dil ko sitam ye sah nahin sakata

agar thukara diya tumne juda yah rah nahin sakata

इसे तुम तोड़ देना ना बड़ा मासुम ये दिल है।
लगा कर सीने से रख तुम्हारे दिल के काबिल है।।

ise tum tod dena na bada maasum ye dil hai

laga kar seene se rakh tumhare dil ke kaabil hai

जब भी सतायेगी मुझे मेरे सनम जो तेरी याद।
लिख ही डालूंगा कलम से अपने दिल का हाल।।

jab bhi satayegi mujhe mere sanam jo teri yaad

likh hi dalunga kalam se apne dil ka haal

फूल से नाजुक बदन पे खंजरों की मार है।
या खुदा तू गारत कर जो कहते इसको प्यार है।।

phool se najuk badan pe khanjaron kee maar hai

ya khuda too garat kar jo kahte isako pyar hai

तुम यूं ही देखकर मुस्कुराती रहो।
सजनी मेरा दिल तो बहल जाएगा।।

tum yoon hee dekhakar muskurati raho

sajani mera dil to bahal jayega

इस तरह तीर नजरों के मारो नहीं।
पत्थरों का कलेजा भी दहल जाएगा।।

is tarah teer najaron ke maaro nahin

pattharon ka kaleja bhee dahal jayega

बेहतर तो है यही अब गम को गले लगाले।
उन जैसे बेवफा को जल्दी हम भुला दे।।

behtar to hai yahi ab gam ko gale lagaale

un jaise bevapha ko jaldee ham bhula de

लगा है आशिकों का जमघट देखो बाहर सड़कों पे।
निकला जाता जनाजा मेरे सरकार सड़कों पे।।

laga hai aashikon ka jamghat dekho baahar sadakon pe

nikala jaata janaaja mere sarakaar sadakon pe

चलती नहीं देखी कभी तलवार सड़कों पर।
जख्मी होते देखे बडे दिलदार सड़कों पर।।

chalatee nahin dekhee kabhi talavaar sadakon par

jakhmi hote dekhe bade dildaar sadakon par

क्या तीर मारा उसने मेटी जबांपेकस कर।
निकलती नहीं जुबां से कोई बात उनकी बनकर।।

kya teer maara usane metee jabanapekas kar

nikalati nahin jubaan se koi baat unaki banakar

जमाना क्यों परेशां है मेरे हाले परेशों से।
मन तो नहीं बनाया कोई जमनशी अपना।।

jamana kyon pareshan hai mere haale pareshan se

man to nahin banaya koi jamnashi apna

पत्ते तो सूख गए पेड़ है खड़ा।
शायद उसे हो अब भी हरियाली का इन्तजार।।

patte to sookh gaye ped hai khada

shaayad use ho ab bhi hariyali ka intjaar

पास आ करके देखली मैंने।
इस गरीबी मैं बहुत दूरी नहीं।।

paas aa karake dekhli maine

is garibi main bahut duri nahin

अगर कोई हसीना, मुझको दल्हा मानती होगी।
तो सच है वो भी हालत को हमारे जानती होगी।।

agar koi haseena, mujhako dalha maanati hogi

to sach hai vo bhi haalat ko hamare janti hogi

नहीं रोटी का रहता है ठिकाना, हम दीवानों का।
शक्ल को देख करके दूर से, पहचानती होगी।।

nahin roti ka rahata hai thikana, ham deevanon ka

shakl ko dekh karke door se, pahchanti hogi

दिवानगी का सेहरा, मुझ पर चढ़ाने वाली।
महफिल मैं वफा कर मुझको बुलाने वाली।।

divangi ka sehara, mujh par chadhaane vaali

mahaphil main vapha kar mujhako bulaane vaali

दवा के कब्र में सब चल दिये, दुआ न सलाम।
जरा सी देर में क्या हो गया जमाने को।।

dava ke kabra mein sab chal diye, dua na salaam

jara see der mein kya ho gaya jamane ko

मुझे फूकने से पहले, मेरा दिल निकाल लेना।
ये किसी की है अमानत, कहीं साथ जल न जाए।।

mujhe fookane se pahale, mera dil nikaal lena

ye kisi kee hai amaanat, kaheen saath jal na jaye

तुम मुझसे छूटकर रहे सबकी निगाह में।
मैं तुमसे छूटकर किसी काबिल नहीं रहा।।

aap mujhse chhootakar rahe sabakee nigaah mein

main tumase chhootakar kisi kaabil nahin raha

जो तमन्ना दिल में थी, वो दिल में घुटकर रह गई।
उसने पूछा भी नहीं, हमने बताया भी नहीं।।

jo tamanna dil mein thee, vo dil mein ghutakar rah gayi

usane poochha bhi nahin, hamane bataaya bhee nahin

तुम्हारी बेरुखी ने यूं हमारा दिल बहुत तोड़ा।
उसी दिल ने तुम्हें आवाज दी है फिर, चले आओ।।

tumhari berukhi ne yoon hamara dil bahut toda

usee dil ne tumhen aavaaj dee hai phir chale aao

ये मौसम सुहाना फिजा भीगी-भीगी।
बड़ा लुत्फ आता अगर तुम भी होते।।


ye mausam suhana fija bhigi-bhigi
bada lutf aata hai agar tum bhee hote

पूछा जो उनसे चांद निकलता है किस तरह।
जुल्फों को रूख पे डाल के झटका दिया कि यूं।।

poochha jo unse chaand nikalata hai kis tarah
julphon ko rookh pe daal ke jhatka diya ki yoon

कितने अनजान हैं, क्या सादगी से पूछते है।
कहिये, क्या मेरी किसी बात पे रोना आया।।

kitane anjaan hain, kya saadagee se poochhate hain
kahiye, kya meri kisi baat pe rona aaya

Post a Comment

0 Comments